इस साल चावल उत्पादन में होगी कमी तो असर पड़ेगा मेहंगाई पर।


This year, there will be a decrease in rice production, then mehnas will be affected.

इस साल खरीफ के चावल उत्पादन में 60 से 70 लाख टन की कमी आने के कारण चावल की कीमतें बढ़ सकती हैं। उपभोक्ता मंत्रालय के मुताबिक एक साल में चावल के थोक की कीमत 10.7 फीसदी बढ़कर 3,357 रुपए क्विंटल हुआ है। इसी वजह से चावल के उत्पादन में कमी आएगी। लेकिन नीति आयोग के सदस्य रमेश चंद के अनुसार कीमत इसलिए बढ़ाई गई हैं क्योंकि न्यूनतम समर्थन और खाद, ईंधन के मूल्य को बढ़ाया गया है।

BharatiyaRecipes back to top image Add DM to Home Screen