घरवाले चाहते थे पढ़ कर नौकरी करें, बेटे ने शुरू किया स्टार्टअप।


The family wanted the son to do a job by writing, the son started a startup.

हरियाणा के रोहतक शहर में एक साधारण मध्यवर्गीय परिवार में जन्मे प्रदीप नरवाल ने अपनी शुरुआती शिक्षा रोहतक के एक स्कूल से प्राप्त की। प्रदीप के परिवार वाले हमेशा यही सिखाते थे कि पढ़-लिखकर नौकरी करनी है। लेकिन प्रदीप को नौकरी में कोई दिलचस्पी नहीं थी, क्योंकि नियति को कुछ और ही मंजूर था। प्रदीप बचपन से ही पढ़ाई में बहुत तेज थे। 10वीं और 12वीं की परीक्षा टॉप करने के बाद गवर्मेंट इंजीनियरिंग कॉलेज, सिरसा से ग्रेजुएशन में B.Tech किया। इसके बाद उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक्स एण्ड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग में M.Tech किया। फिर इन्होंने हरियाणा नॉलेज कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HKCL) फ्रेंचाइजी मॉडल के साथ शुरुआत की। इसके करीब 2 साल बाद इन्होंने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के आईटी डिपार्टमेंट के साथ काम किया। साल 2016 में प्रदीप ने New Edge Soft Sol नाम से अपनी खुद की कंपनी शुरू की। उन्होंने इन्फ्रास्ट्रक्चर सर्विस देने के लिए 150 कम्प्यूटर का सेटअप बनाया। इसके बाद इन्होंने स्टार्टअप में विस्तार करना शुरू किया और ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी की शुरुआत की। अब उनके पास अपना खुद का प्रोडक्ट है, जिससे वे अलग-अलग सरकारों को सर्विस देते हैं। प्रदीप का यह स्टार्टअप ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हुए डॉक्यूमेंट्स को वैरिफाई करने का काम करता है। प्रदीप ने बताया कि आने वाले समय में हम 2-3 राज्यों के शिक्षा बोर्ड के साथ मिलकर ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के जरिए डॉक्यूमेंट वैरिफिकेशन प्रोसेस को इंप्लीमेंट करना चाहते हैं। करीब 10 यूनिवर्सिटी में कोर्स शुरू करेंगे।

BharatiyaRecipes back to top image Add DM to Home Screen