महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट या शिवसेना के राजनीतिक पतन की शुरुआत?


Politics crisis in Maharashtra or the beginning of Shiv Senas politics fall?

महाराष्ट्र मे आजकल राजनीतिक संकट के बादल छाए हुए है। सब पार्टियां अपने विधायकों को बचाने में लगी हुई है क्योंकि अभी कुछ कहा नहीं जा सकता कि किसके विधायक किस पार्टी की और चले जाएं ।महाराष्ट्र में अभी तक कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना(MVA) की सरकार है लेकिन ये कहा नहीं जा सकता कि ये सरकार अब कितने दिन या कितने घंटे रहेगी ये किसी को पता नहीं है क्योंकि शिवसेना विधायक दल के नेता एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में लगभग 35 विधायकों ने बगावत करते हुए गुजरात का रुख कर लिया और इसका एक वजह है शिवसेना का अपनी विचारधारा से भटक जाना। शिवसेना ,भाजपा (BJP) के साथ चुनाव लड़ी और जनता ने दोनो पार्टियों को मिलाकर बहुमत दिया लेकिन उद्धव ठाकरे जी ने जनादेश का अपमान किया और अपने व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा के लिए शिवसेना की बलि चढ़ा दी। मेरा मानना है की MVA की सरकार में सबसे ज्यादा किसी को फायदा हुआ तो वह शरद पवार की पार्टी एनसीपी को । मेरे समझ से अब शिवसेना अपने राजनीति पतन की ओर बढ़ रही है।

BharatiyaRecipes back to top image Add DM to Home Screen