महंगाई की मार या ED की मार


Inflation kills or ED

अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा में दिन प्रतिदिन हार रही,  कॉंग्रेस महंगाई को पूरे देश में सजीवन के रूप मे देख रहीं। हालांकि यह कल के प्रदर्शन का मुख्य मुद्दा रहा है। लेकिन इसके पीछे की राजनीति कुछ और ही दिशा दिखा रही।गौर करने वाली बात है कि अपने प्रेस कांफ्रेंस मे राहुल गांधी ने करीब सरकारी जांच एजेंसी को ही केंद्र में रखा। जबकि संसद में अबतक सिर्फ एक बार ही महंगाई पर चर्चा का नोटिस दिया है। यही इस बात को दर्शाता भी है। 

BharatiyaRecipes back to top image Add DM to Home Screen