2006 में टाटा संस बोर्ड में शामिल होने से, चेयरमैन बनने तक, ऐसा रहा साइरस मिस्त्री का सफर।


Cyrus Mistrys journey was from joining Tata Sons Board in 2006, becoming the chairman.

4 जुलाई सन 1968 को जन्मे साइरस मिस्त्री पालोनजी शापूरजी मिस्त्री के सबसे छोटे बेटे थे। इन्होंने मुंबई के कैथेड्रल एंड संस जॉन कॉनन स्कूल से शिक्षा प्राप्त की। साल 1990 में लंदन के इंपीरियल कॉलेज से सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी कर 1991 में परिवार की कंस्ट्रक्शन कंपनी शापूरजी पालोनजी एंड कंपनी लिमिटेड के डायरेक्टर के रूप में ज्वाइन किया। इसके बाद साइरस 2006 को टाटा संस बोर्ड में शामिल हुए। पिता पालोनजी मिस्त्री के टाटा संस से रिटायर होने के बाद उनकी एंट्री हुई थी। साइरस मिस्त्री में टाटा समूह की कमान संभाल लेने की क्षमता को देखते हुए साल 2012 में उन्हें टाटा संस का चेयरमैन बनाया गया। टाटा संस के चेयरमैन के तौर पर मिस्त्री चार साल तक पद पर रहे लेकिन अक्टूबर 2016 में उन्हें अचानक अंदरूनी मतभेदों के चलते उन्हे पद से हटा दिया गया। इसके बाद खुद टाटा समूह के हेड रतन टाटा ने कुछ समय के लिए इसकी कमान संभाली। मतभेद के चलते फरवरी 2017 को मिस्त्री को टाटा ग्रुप की होल्डिंग कंपनी टाटा सन्स के बोर्ड में डायरेक्टर के पद से भी हटा दिया गया। मिस्त्री ने कई सालों तक रतन टाटा और इसके प्रबंध ट्रस्टी एन वेंकटरामन तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी। इसके बाद 54 वर्षीय साइरस मिस्त्री की रविवार 4 सितंबर 2022 को महाराष्ट्र के पालघर जिले में एक सड़क हादसे में मौत हो गई। 

BharatiyaRecipes back to top image Add DM to Home Screen